• Fri. May 27th, 2022

कुशीनगर : कोल्ड ड्रिंक में जहर मिलाकर पीने से दंपती की मौत, बेटी की हालत गंभीर

कुशीनगर जिले के पटहेरवा थाना क्षेत्र अमवा श्रीदुबे गांव में मंगलवार की रात एक युवक ने कोल्डड्रिंक में जहर मिलाकर पत्नी और एक बेटी के साथ खुद भी पी लिया। काफी देर तक कमरे से कोई आवाज न आने पर घरवालों ने दरवाजा पीटा। बेटी ने किसी तरह दरवाजा खोला। तीनों की गंभीर हालत देखकर परिजन उन्हें तत्काल फाजिलनगर सीएचसी ले गए, जहां से डॉक्टर ने प्राथमिक उपचार के बाद हालत में सुधार न होते देख जिला अस्पताल रेफर कर दिया। वहां देर रात पति की मौत हो गई, जबकि पत्नी की मौत बुधवार को सुबह नौ बजे हुई। बेटी का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है। घटना की वजह गृहकलह बताई जा रही है।



एसपी धवल जायसवाल के मुताबिक अमवा श्रीदुबे निवासी रामप्रवेश के तीन बेटों में बड़ा बेटा अजीत गुप्ता (32) एक साल पहले तक मुंबई कमाता था। वहां से आने के बाद उसे इंसेफेलाइटिस हो गया था। इलाज से उसकी जान तो बच गई, लेकिन मानसिक स्थिति ठीक नहीं रहती थी। इस वजह से मुंबई का उसका रोजगार छूट गया। तब से वह घर ही रहता था।

उसके पिता रामप्रवेश गांव से दो किलोमीटर दूर धनहां चौराहे पर एक गुमटी में नमकीन-चिप्स आदि बेचते हैं। रोजगार न होने के कारण अजीत का समुचित इलाज नहीं हो पा रहा था। मंगलवार को सुबह पति-पत्नी में झगड़ा भी हुआ था। बताया जा रहा है कि वह मायके जाने के लिए कह रही थी। बाद में अजीत उसे बाइक से अपनी ससुराल तुर्कपट्टी थाना क्षेत्र के धारीपट्टी लेकर गया था। देर शाम दोनों घर आए।

रात में अजीत ने पत्नी सिंधु गुप्ता (30),  दोनों बच्चों बेटी नंदनी (12) और बेटा अंशु (09) को बुलाया। अंशु अपने दादा के साथ रहने की बात कहकर उनके पास नहीं गया। उसके बाद अजीत ने पत्नी, बेटी और खुद कोल्डड्रिंक में जहर मिलाकर पिला दिया और खुद भी पी लिया। इसके बाद तीनों की हालत बिगड़ने लगी। कुछ देर बाद बेटा आया तो कमरा अंदर से बंद पाया।

उसने शोर मचाया तो नंदनी ने दरवाजा खोला। तीनों की हालत देख सभी सन्न रह गए। उन्हें बाइक से फाजिलनगर सीएचसी ले गए, जहां हालत नियंत्रण से बाहर देख डॉक्टर ने प्राथमिक उपचार के बाद जिला अस्पताल रेफर कर दिया। वहां इलाज के दौरान देर रात अजीत की मौत हो गई, जबकि पत्नी की सुबह नौ बजे मौत हुई है। बेटी का इलाज जिला अस्पताल में चल रहा है।


Related Post