• Wed. Dec 1st, 2021

गोरखपुर में प्रियंका ने दुखती रग पर हाथ रख योगी को घेरा

मनीष हत्याकांड, लखीमपुर बवाल, आगरा में हिरासत में मौत को बनाया मुद्दा

रविवार को सीएम योगी के गढ़ गोरखपुर में कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी खूब गरजीं। महंगाई, बेरोजगारी और कुशासन के आरोपों के साथ मनीष हत्याकांड, लखीमपुर बवाल और आगरा में हिरासत में मौत जैसे मुद्दों को उठा कर योगी की दुखती रग पर हाथ रखने की कोशिश की।

अपनी 8 प्रतिज्ञाएं लेकर गोरखपुर पहुंची कांग्रेस महासचिव व उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी ने भी अपने संबोधन में इन मामलों को उठाकर योगी सरकार को जमकर घेरा। यूपी में हर किसी को सुरक्षा की गारंटी देने और अपराधियों के यूपी से पलायन करने के योगी सरकार के दावों के ठीक उलट प्रियंका ने यूपी सरकार का माखौल उड़ाया।

कानपुर के एक व्यापारी मनीष गुप्ता गोरखपुर आए थे। उन्हें यहां पुलिस ने मार डाला। उनकी पत्नी से मैंने बात की। आप बताइए, जब जनता में ऐसे संकट आते हैं और जनता को समझ में आ जाता है कि जब उसकी कोई सुनवाई नहीं है तो क्या होता है। उन्होंने बीते दिनों गोरखपुर विश्वविद्यालय में  बीएससी की छात्रा प्रियंका भारती की संदिग्ध मौत का भी जिक्र किया।

कहा कि उस बेटी का परिवार आज भी न्याय के लिए दर- दर की ठोकरें खा रहा है। इतना ही नहीं, गगहा इलाके में पिता की वीडियो बना रही बेटी काजल की गोली मारकर हत्या का जिक्र करते हुए प्रियंका गांधी ने यूपी की कानून व्यवस्था पर जमकर निशाना साधा। कहा कि मैं वादा करती हूं। आपकी लड़ाई मैं लड़ूगीं।

प्रियंका ने अपने संबोधन में यूपी पुलिस व प्रशासनिक व्यवस्था पर हमला बोलते हुए कहा कि मैं कुछ दिनों पहले प्रयागराज गई थी। निषादों का गांव हैं। पुलिस व प्रशासन ने निषादों की नाव जला डाली थी। नाव निषादों की मां होती है, उनकी जीविका होती है। नदी पर अगर किसी का अधिकार है तो वह निषादों का है। लेकिन इस सरकार ने उनके अधिकारों को छिना और उन्हें पीटकर प्रताड़ित किया। गुरु गोरक्षनाथ के विचारों से ठीक विपरित योगी जी का शासन चल रहा है। आज यह सरकार जनता के प्रति आग उगल रही है। चाहे लखीमपुर खीरी देखिए चाहे आगरा देखिए।

लखीमपुर की घटना पर बोला हमला
कहा कि यूपी में आज बेटी के सामने पुलिस ने उसके पति की हत्या कर दी। जहां जहां मैं जाती हूं, यही दुख देखती हूं। जहां संघर्ष है, दुख है, वहां सरकार अपना चेहरा फेर लेती है। कहा कि यूपी में हर जगह अपराध है। पुलिस ने जनता को प्रताड़ित किया हुआ है। पुलिस और अपराधी दोनों यहां काबू में नहीं हैं। कल अमित शाह जी कह रहे थे उत्तर प्रदेश में अपराधियों को दूरबीन में खोजना पड़ता है, लेकिन उनके साथ उसी वक्त कौन खड़ा था? अजय मिश्र टेनी मंत्री खड़े थे। जिनका बेटा किसानों का हत्यारा है।