• Wed. Dec 1st, 2021

लखनऊ : गृहप्रवेश की रात पत्नी को गला दबाकर मार डाला और खुद भी फांसी पर लटका

लखनऊ के गोमती नगर विस्तार स्थित गंगोत्री विहार फेस दो में नवनिर्मित घर में मंगलवार रात गृह प्रवेश की पार्टी के बाद बुधवार सुबह दंपती का शव संदिग्ध हालात में बेडरूम में मिला। रिश्तेदारों ने खिड़की का शीशा तोड़ किसी तरह से दरवाजा खोलने के साथ ही पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने छानबीन कर प्रथमदृष्टया पत्नी की गला दबाकर हत्या करने के बाद पति द्वारा खुदकुशी करने की बात कही है।

गोंडा के कर्नलगंज थाना क्षेत्र के शिवशंकर पुरवा निवासी रंगनाथ मिश्रा के पुत्र रामकिशोर, श्याम किशोर और बृज किशोर गोमती नगर विस्तार में गीतापुरी के पास रहकर बिल्डिंग मटेरियल का कारोबार करते हैं। तीनों भाइयों ने हाल ही में गोमती नगर के गंगोत्री विहार फेस टू में चारमंजिला आलीशान मकान बनवाया है। जिसमें बेसमेंट और ग्राउंड फ्लोर पर बिल्डिंग मटेरियल की दुकान खोली गई और ऊपर की दो मंजिलों पर परिवार के लिए आवास बनवाया गया। मंगलवार को नवनिर्मित मकान में गृह प्रवेश की पार्टी थी।

इसमें तमाम रिश्तेदार, मित्र और आसपास के लोग शामिल हुए। देर रात तक खाना पीना और डांस के बाद परिजन व रिश्तेदार सो गए। बुधवार सुबह श्याम किशोर देर तक कमरे से बाहर नहीं निकले तो उनकी बहन ने दरवाजे पर दस्तक दी। काफी देर तक दरवाजा नहीं खुलने पर अनहोनी की आशंका में रिश्तेदारों ने कमरे की खिड़की का शीशा तोड़ा तो भीतर श्याम किशोर (38) का शव फंदे पर लटका देख घबरा गए। दरवाजा तोड़कर रिश्तेदार और परिवार के लोग भीतर गए तो बेड पर साधना (36) की लाश पड़ी थी जबकि श्याम किशोर की 9 साल की बेटी प्रियांशी पास में बैठी थी और 7 साल का बेटा अविनाश सो रहा था।

Advertisement

श्याम किशोर और साधना की मौत से परिवार और रिश्तेदारों में कोहराम मच गया। आनन-फानन पुलिस को सूचना दी गई। इस पर डीसीपी पूर्वी अमित कुमार आनंद, एडीसीपी पूर्वी कासिम आब्दी और गोमती नगर विस्तार इंस्पेक्टर मौके पर पहुंचे। पुलिस ने मौका मुआयना करने के साथ ही परिजनों व रिश्तेदारों से पूछताछ की। इसके बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए गए। इंस्पेक्टर ने बताया कि फोरेंसिक टीम के साथ मौके का मुआयना कर साक्ष्य एकत्र किए गए हैं। साक्ष्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

साधना के मायके वालों का कहना है कि श्याम किशोर ने साधना की हत्या कर दी। उसके बाद फंसने के डर से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मायके वालों का कहना है कि साधना नए घर में जाने को लेकर खुश थी। उसका आत्महत्या करना संभव ही नहीं।

दूसरी तरफ श्याम किशोर के परिजनों का कहना है कि दोनों के कमरे का दरवाजा सुबह देर तक न खुलने पर पुलिस को सूचना दी गई। उन्होंने दोनों के बीच देर रात किसी बात को लेकर विवाद की बात स्वीकार की है लेकिन विवाद किस बात पर हुआ इसकी जानकारी होने से इंकार किया।